Mithun Rashifal : मिथुन राशिफल


मिथुन राशिफल (today)

कार्ड के अनुसार आत्मविश्वास व रचनाओं से भरा दिन होगा यह। आप कार्य के प्रति एक चाव से लगाव से जुड़े रहेंगे जो आपको सफलता दिलाएगा। कार्य पे अपनी कमांड रखे, दुसरो के भरोसे ना छोड़े नुकसान हो सकता है। किसीके प्रति झुकाव, प्रेम हो सकता है। रिश्तो में सुधार होगा लकी कलर - लाल, लकी नंबर – 9

_________________________________________________________________________________________


मिथुन राशिफल (2020 year)

मिथुन राशिफल 2020 सूर्य या चन्द्र राशि पर आधारित न होकर लग्न पर आधारित है. वर्ष 2020 का राशिफल मिथुन लग्न के जातकों के स्वास्थ्य , व्यापार , भाग्य और वैवाहिक जीवन से सम्बंधित है.  राशिफल  2020 बहुत ही सामान्य आधार पर है अतः किसी विशेष परिस्थिति में अपनी कुंडली की जाँच कराकर ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचे . अच्छे या बुरे परिणाम आपकी वर्तमान दशा- अंतर दशा पर निर्भर करते हैं.

विशेष :

  • इस वर्ष ‘वृहस्पति’ धनु राशि में हैं और नवम्बर महीने में के अन्तिम सप्ताह तक धनु राशि में ही बने रहेंगे | इस वर्ष के मध्य भाग 30 मार्च से जून तक मकर राशि में वक्री और मार्गी होंगे | ‘वृहस्पति’ का सबसे ज्यादा प्रभाव धनु राशि पर होगा |

  • ‘शनि’ 24 जनवरी को मकर राशि में प्रवेश करेंगे और पूरे वर्ष पर्यन्त मकर राशि में रहेंगे |

  • ‘राहू’ और ‘केतू’ सितम्बर महीने तक क्रमशः मिथुन राशि और धनु राशि में रहेंगे और सितम्बर के बाद वृषभ और वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे, और पूरे वर्ष पर्यन्त रहेंगे |

  • ‘मंगल’ इस पूरे  वर्ष पर्यन्त क्रमशः धनु , मकर, कुम्भ, मीन और मेष राशि में रहने वाले हैं |

  • इस वर्ष ‘शनि ढ़ैया’ जनवरी में वृषभ और कन्या राशि के लिये समाप्त होगी , परन्तु तुला और मिथुन राशि के लिये शनि ढ़ैया प्रारम्भ होगी | ‘शनि साढ़ेसाती’ से इस वर्ष वृश्चिक राशि पूरी तरह से मुक्त रहेगी | धनु  राशि के लिये ‘शनि साढ़ेसाती’ का अन्तिम वर्ष रहेगा | मकर राशि के लिये मध्य वर्ष रहेगा | और कुम्भ राशि के लिये ‘शनि साढ़ेसाती’ प्रारम्भ होगी | 


यह वर्ष कॅरियर के मामले में काफी संघर्षपूर्ण रहेगा | कार्यस्थल पर अपने से बड़े पदाधिकारियों से विनम्रता और सावधानी बनाये रखना पड़ेगा | विशेषकर इस वर्ष के अन्तिम महीने में परेशानियाँ और बढेंगी | इस वर्ष आपका भाग्य बहुत सहयोगी नहीं रहेगा | भाग्य भरोषे किये गए कार्य से आपको हानि होगी | वाणी और बुध्दी के बल पर जो कार्य प्रारम्भ करेंगे उसमे सफलता का योग बना हुआ है | आपके पदोन्नति मे बाधा उत्पन्न होगी | कार्यस्थल पर आपके लिये कहीं दूर स्थान परिवर्तन का योग बना हुआ है | जिसके कारण आपके परिवार को कठिनाइयों का सामना करना पड सकता है | स्थान बदलने के कारण लोगों का बहुत अधिक सहयोग नहीं मिलेगा | जिसके कारण थकान बढ़ेगा | इस वर्ष आपका कोई भी कार्य एक बार में नहीं होगा | इसके लिए आपको कई बार कोशिश करनी पड़ेगी | आपका मन उद्वेलित रहेगा | जिसके कारण आपका निर्णय सही नहीं होगा | जो लोग आपके नीचे कार्य करते हैं, वो लोग आपकी उन्नति में विघ्न उत्पन्न करेंगे | आपके करीबी आपके पीठ पीछे बुराई करेंगे | आर्थिक दृष्टिकोण से इस वर्ष आय में वृद्धि रहेगी, परन्तु धन बचत नही हो पायेगा | कर्ज लेने की स्थिति उत्पन्न होगी | तथा धन हानि का भी योग बना हुआ है | जो लोग खुद का व्यापार करना चाहते हैं उनके लिए इस वर्ष का ( फरवरी से नवम्बर ) तक का महीना काफी अच्छा रहेगा | धन निवेश के लिये नवम्बर के बाद का समय काफी अच्छा रहेगा | प्रेम-सम्बन्धों और वैवाहिक दृष्टिकोण से यह वर्ष बहुत सहयोगी रहेगा | विशेष रूप से (फरवरी से नवम्बर) तक का समय काफी विवाह के लिये बहुत ही अनुकूल है | जो लोग विवाह के योग्य हैं, उनके विवाह होने की काफी अच्छी सम्भावना बनी हुई है | प्रेम-सम्बन्धों के लिए भी अच्छा समय है | रिश्तों को लेकर बहुत अधिक जाँच-पड़ताल करने की प्रवृत्ति आपके अन्दर बढ़ी रहेगी | जिसके कारण वैचारिक मतभेद उत्पन्न होंगे | रिश्तों में कुछ मनमुटाव की स्थिति उत्पन्न होगी | शिक्षा के मामले में यह वर्ष आपके काफी अनुकूल रहेगा | जो लोग अपने जन्मस्थान से कहीं दूर जाकर शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं, उनके लिये काफी अच्छा वर्ष रहेगा, तथा आपको शिक्षा में अच्छी उन्नति मिलेगी | इस मामले में भाग्य आपका साथ देगी | स्वास्थ के दृष्टिकोण से यह वर्ष आपके काफी प्रतिकूल रहेगा | बहुत से लोगों को पेट और पेट से नीचे के हिस्से में फ्रैक्चर होने की सम्भावना प्रबल बनी हुई है | आपके सन्तान से कुछ वैचारिक मतभेद होने की भी सम्भावना प्रबल है | इस वर्ष आपके मित्रों और भाई-बहनों का अत्यधिक सहयोग मिलेगा |

सावधानी

  • रिश्तों के मामले में अति विश्लेषण से बचें |

  • अपने सभी सहयोगियों के साथ सम्बन्धों को बना कर रखें |

  • इस वर्ष अप्रैल, मई, जून और नवम्बर, दिसम्बर इन पाँच महीनो वाणिज्यिक और कागजात  के कार्यों में सावधानी बरतें |

  • संतान से वैचारिक मतभेद ना उत्पन्न करें |

  • लाभ के लिये इस वर्ष “शनिदेवजी” की नियमित पूजा करें |

  • धन सोच-समझकर खर्च करें |

  • अत्यधिक परिश्रम से घबराएँ नहीं |

© 2023. Managed by DigiHakk

  • YouTube
  • Facebook Clean
  • Instagram