नवरात्रि (navratri) पर ज्वारे का महत्व



नवरात्रि (navratri) पर ज्वारे उगाए जाते हैं। घट स्थापना के ही दिन माता की चौकी के सामने ज्वार बोएं जाते हैं। मान्यता है नवरात्रि पर जौ बोना बहुत ही शुभ होता है। कलश के सामने मिट्टी के पात्र में जौ को बोया जाता है। नवरात्रि में जौ इसलिए बोया जाता है क्योंकि सृष्टि की शुरुआत में जौ ही सबसे पहली फसल थी। साथ ही ऐसी मान्यता है कि जौ उगने या न उगने को भविष्य (future) में होने वाली घटनाओं का पूर्वानुमान के तौर पर देखा जाता है । अगर जौ तेज़ी से बढ़ते हैं तो घर में सुख-समृद्धि आती है। अगर ये बढ़ते नहीं और मुरझाए हुए रहते हैं तो भविष्य (future) में किसी तरह के अनिष्ट का संकेत देते हैं।


जौ देता है ये संकेत

इसके अलावा जौ बोने को लेकर एक और मान्यता है। माना जाता है कि जौ उगाने से भविष्य से संबंधित कुछ बातों के संकेत मिलते हैं। ऐसी मान्‍यता है कि यदि जौ तेजी से बढ़ते हैं, तो घर में सुख-समृद्धि तेजी से बढ़ती है। वहीं, यदि जौ मुरझाए हुए या इनकी वृद्धि कम हुई हो, तो भविष्य में कुछ अशुभ घटना का संकेत मिलता है।

© 2023. Managed by DigiHakk